Style Switcher

शब्द का आकार बदलें

A- A A+

भाषायें

पश्चिम भारत विज्ञान मेला

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के सहयोग से पश्चिम भारत विज्ञान मेले के आयोजन का उदेश्य कक्षा आठवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को विज्ञान अभियांत्रिकी एवं गणित विषय में सक्रिय भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना तथा उनकी रचनात्मकता को संपोषित करने के लिए मंच प्रदान करना हैं। मेेले का उदेश्य उनके कार्यो को निर्णायकों एवं जन सामान्य के सम्मुख प्रगट कर कार्य के लिए आत्मविश्वास और सार्वजनिक मान्यता देकर उन्हे शैक्षिक अनुभव प्रदान करना हैं। विज्ञान मेेले का आयोजन राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, रायपुर द्वारा प्रतिवर्ष किया जाता है। मेंले मे विद्यार्थियों के लिए व्यक्तिगत एवं समूह परियोजना प्रतियोगिता तथा शिक्षकों के लिए सहायक शिक्षण सामाग्री प्रतियोगिता का आयोजन ब्लाॅक, जिला, जोन, एवं राज्य स्तर पर किया जाता हैं।

प्रतिभागी कौन हो सकते हैं ?

भारतीय विद्यालय से आठवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थी ब्लाॅक/जिला/जोन/राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग ले सकते हैं।

मेले के लिए विषय वस्तु .....क्लिक करें

क्या उम्मीद की जाती हैं ?

मेले के विभिन्न स्तरों के उच्च स्तर की प्रतियोगिता के संदर्भ में परियोजनाओं में नवीनता प्रगट करने नवाचार, विशिष्टता, मौलिकता, गुणवत्ता एवं शोध क्षमता का समावेश होना चाहिए। परियोजनाएॅ प्रकृति में तहकीकात संबंधी हो। शोधकर्ता को चरणबद्ध प्रयोग एवं आंकड़ो के संकलन की एक डायरी बनाना चाहिए। शोध वैज्ञानिक, शिक्षक या माता पिता को मार्गदर्शक के रूप में लिया जा सकता हैं।

"वर्तमान में यह दस्तावेज हिन्दी में उपलब्ध नहीं हैं , यह जानकारी अंग्रेजी में देखने अथवा प्राप्त करने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें।"

प्रतिभागियों की वर्षवार सूची.....क्लिक करें

राज्य स्तर में चयनित प्रतिभागियों की सूची:

वित्तीय वर्ष 2017-18 में विमुक्त राशि का विवरण

उपलब्धियां

  • स्टेट मीट आॅन प्रोमोटिंग स्पेश टेक्नोलाॅजी बेस्ड टूल्स एण्ड एप्लीकेशन इन गवर्नेन्स एण्ड डेवल्पमेंट।
  • ईयर आॅफ सांईनटिफिक अवेयनेस-2004।
  • वीनस ट्रानसिट-2004।
  • रीजनल ओरीएनटेशन वर्कशाॅप आॅन माइक्रोआरगेनिजमसः लेट अस ओबसर्व एण्ड लर्न।