Style Switcher

शब्द का आकार बदलें

A- A A+

भाषायें

पश्चिम भारत विज्ञान मेला

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद के सहयोग से पश्चिम भारत विज्ञान मेले के आयोजन का उदेश्य कक्षा आठवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थियों को विज्ञान अभियांत्रिकी एवं गणित विषय में सक्रिय भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना तथा उनकी रचनात्मकता को संपोषित करने के लिए मंच प्रदान करना हैं। मेेले का उदेश्य उनके कार्यो को निर्णायकों एवं जन सामान्य के सम्मुख प्रगट कर कार्य के लिए आत्मविश्वास और सार्वजनिक मान्यता देकर उन्हे शैक्षिक अनुभव प्रदान करना हैं। विज्ञान मेेले का आयोजन राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद, रायपुर द्वारा प्रतिवर्ष किया जाता है। मेंले मे विद्यार्थियों के लिए व्यक्तिगत एवं समूह परियोजना प्रतियोगिता तथा शिक्षकों के लिए सहायक शिक्षण सामाग्री प्रतियोगिता का आयोजन ब्लाॅक, जिला, जोन, एवं राज्य स्तर पर किया जाता हैं।

प्रतिभागी कौन हो सकते हैं ?

भारतीय विद्यालय से आठवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थी ब्लाॅक/जिला/जोन/राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में भाग ले सकते हैं।

विषय वस्तु

भौतिकी: ऊर्जा पर शासन करने वाले सिद्धांत, सिद्धांत और कानून और पदार्थ पर ऊर्जा का प्रभाव - ठोस अवस्था, प्रकाशिकी, ध्वनिकी, कण, परमाणु, परमाणु, प्लाज्मा, सुपर चालकता, द्रव और गैस गतिकी, ऊष्मप्रवैगिकी, अर्धचालक, चुंबकत्व, क्वांटम यांत्रिकी, बायोफिज़िक्स आदि।

कंप्यूटर विज्ञान: कंप्यूटर हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर, इंजीनियरिंग, इंटरनेट नेटवर्किंग और संचार, ग्राफिक्स (मानव इंटरफ़ेस सहित), सिमुलेशन / आभासी वास्तविकता या कम्प्यूटेशनल विज्ञान (डेटा संरचनाओं, एन्क्रिप्शन, कोडिंग और सूचना सिद्धांत सहित) का अध्ययन और विकास।

गणित: औपचारिक तार्किक प्रणालियों या विभिन्न अंकों या बीजगणितीय संगणनाओं और इन सिद्धांतों के अनुप्रयोग - कलन, ज्यामिति, अमूर्त बीजगणित, संख्या सिद्धांत, सांख्यिकी, जटिल विश्लेषण और संभावना।

इंजीनियरिंग: प्रौद्योगिकी, परियोजनाएं जो सीधे वैज्ञानिक सिद्धांतों को विनिर्माण और व्यावहारिक उपयोगों पर लागू करती हैं - सिविल, मैकेनिकल, वैमानिकी, रसायन, विद्युत, फोटोग्राफिक, ध्वनि, स्वचालन, समुद्री, हीटिंग और रेफ्रिजरेटिंग, परिवहन, पर्यावरण इंजीनियरिंग आदि।

पर्यावरण विज्ञान: प्रदूषण (जल और भूमि) स्रोतों और उनके नियंत्रण, पारिस्थितिकी आदि का अध्ययन।

जैव रसायन विज्ञान: जीवन प्रक्रियाओं की रसायन विज्ञान - आणविक जीव विज्ञान, आणविक आनुवंशिकी, एंजाइम, प्रकाश संश्लेषण, रक्त रसायन, प्रोटीन रसायन विज्ञान, खाद्य रसायन विज्ञान, हार्मोन आदि।

रसायन विज्ञान: प्रकृति और संरचना के विषय का अध्ययन और इसे नियंत्रित करने वाले कानून - भौतिक रसायन विज्ञान, जैव रसायन (जैव रसायन के अलावा), अकार्बनिक रसायन विज्ञान, सामग्री, प्लास्टिक, ईंधन, कीटनाशक, धातु विज्ञान, मिट्टी रसायन आदि।

पृथ्वी और अंतरिक्ष विज्ञान: भूविज्ञान, खनन विज्ञान, शरीर विज्ञान, समुद्र विज्ञान, मौसम विज्ञान, मौसम विज्ञान, खगोल विज्ञान, वर्तनी विज्ञान, जीव विज्ञान, भूगोल आदि।
वनस्पति विज्ञान: पादप जीवन-कृषि, कृषि विज्ञान, बागवानी, वानिकी, पादप वर्गीकरण, पादप शरीर क्रिया विज्ञान, पादप रोगविज्ञान, पादप आनुवंशिकी, जलविद्युत, शैवाल आदि का अध्ययन।

मेले के विभिन्न स्तरों के उच्च स्तर की प्रतियोगिता के संदर्भ में परियोजनाओं में नवीनता प्रगट करने नवाचार, विशिष्टता, मौलिकता, गुणवत्ता एवं शोध क्षमता का समावेश होना चाहिए। परियोजनाएॅ प्रकृति में तहकीकात संबंधी हो। शोधकर्ता को चरणबद्ध प्रयोग एवं आंकड़ो के संकलन की एक डायरी बनाना चाहिए। शोध वैज्ञानिक, शिक्षक या माता पिता को मार्गदर्शक के रूप में लिया जा सकता हैं।

"वर्तमान में यह दस्तावेज हिन्दी में उपलब्ध नहीं हैं , यह जानकारी अंग्रेजी में देखने अथवा प्राप्त करने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें।"

प्रतिभागियों की वर्षवार सूची.....क्लिक करें

राज्य स्तर में चयनित प्रतिभागियों की सूची:

उपलब्धियां

  • स्टेट मीट आॅन प्रोमोटिंग स्पेश टेक्नोलाॅजी बेस्ड टूल्स एण्ड एप्लीकेशन इन गवर्नेन्स एण्ड डेवल्पमेंट।
  • ईयर आॅफ सांईनटिफिक अवेयनेस-2004।
  • वीनस ट्रानसिट-2004।
  • रीजनल ओरीएनटेशन वर्कशाॅप आॅन माइक्रोआरगेनिजमसः लेट अस ओबसर्व एण्ड लर्न।