Style Switcher

शब्द का आकार बदलें

A- A A+

भाषायें

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद में आपका स्वागत है


श्री भूपेश बघेल
माननीय मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़ शासन

श्री उमेश पटेल
माननीय मंत्री, छत्तीसगढ़ शासन
उच्च शिक्षा, कौशल विकास, तकनीकी शिक्षा और रोजगार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, खेल और युवा कल्याण

श्री मुदित कुमार सिंह
                         आईएफएस

(पीसीसीएफ एवं वन बल प्रमुख)
महानिदेशक, छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, रायपुर, छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद का गठन 19 जनवरी, 2001 को छत्तीसगढ़ फर्म एंड सोसाइटीज़ एक्ट,1973 के तहत एक पंजीकृत सोसायटी के रूप में किया गया था और यह छत्तीसगढ़ शासन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के साथ काम करने वाली एक स्वायत्त संस्था है। परिषद का उद्देश्य उन क्षेत्रों की पहचान करना है जिनमें विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उपयोग कर राज्य का सम्पूर्ण सामाजिक-आर्थिक विकास किया जा सकता है तथा विज्ञान लोकव्यापीकरण के माध्यम से जनसामान्य और विशेष रूप से छात्र समुदाय के बीच विज्ञान को लोकप्रिय बनाने तथा वैज्ञानिक दृष्टिकोण विकसित करना है। इससे जनमानस में अन्यत्र निर्मित वैज्ञानिक और उन्नत तकनीकी के प्रति रुचि पैदा करने में मदद मिलेगी और इससे समाज को होने वाले लाभों को प्रदर्शित किया जा सकता है। उच्चस्तर की शिक्षा प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों को विज्ञान और प्रौद्योगिकी से सम्बंधित विषयो को चुनने हेतु उनमे रूचि उत्पन करने का प्रयास किया जायेगा। परिषद, छत्तीसगढ़ राज्य के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), भारत सरकार की नोडल एजेंसी के रूप में भी कार्य कर रही है।