Style Switcher

शब्द का आकार बदलें

A- A A+

भाषायें

छत्तीसगढ़ शोध केंद्र (केन्द्रीय प्रयोगशाला सुविधा)

केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा के बारे में संक्षिप्त

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी परिषद ने उत्कृष्ट उपकरणों से सुस्सजित केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा(सी.एल.एफ) की स्थापना निम्न उद्देश्यों के साथ की है:

  • प्रदेश के शोधकर्ता समुदाय के उत्कृष्ट उपकरण सुविधा प्राप्त होए।
  • आधुनिक विज्ञान और अनुप्रयोग उन्मुख अनुसंधान से संबंधित विशिष्ट अनुसंधान कार्यक्रमों के लिए इनक्यूबेटर के रूप में कार्य करे।
  • राज्य में वैज्ञानिक समुदाय में इंस्ट्रूमेंटेशन संस्कृति को विकसित करना।
  • सभी शोधकर्ताओं, शिक्षाविदों ,राज्य के नवोन्मेषकों के लिए पशु मॉडल के साथ अनुसंधान करने के लिए पशु परीक्षण सुविधा प्रदान करना।
  • क्षमता निर्माण सुनिश्चित करने हेतु।
  • परीक्षण की सुविधा के रूप में सेवा एवं राज्य में उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने हेतु।
  • उद्योग, अनुसंधान एवं विकास संस्थानों और शिक्षाविदों के बीच आईपीआर विचारधारा को प्रोत्साहित करने हेतु।

प्रयोगशाला न केवल शोधकर्ताओं, शिक्षाविदों, उद्यमियों, उद्योगपतियों और नवप्रवर्तकों को उत्कृष्ट उपकरण सुविधा प्रदान करती है बल्कि अनुसंधान डिजाइन और विकास परियोजनाओं को प्रोत्साहन एवं उन परियोजनाओ हेतु कार्य भी करती है । केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा उद्योग, अनुसंधान एवं विकास संस्थानों, अकादमिक, पारंपरिक ज्ञान मालिकों और सोसायटी के बीच इंटरफ़ेस स्थापित करती है एवं उक्त के लिए परीक्षण सुविधा का भी कार्य करती है जिससे राज्य के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

सीएलएफ के प्रमुख उद्देश्यों में से एक है उन्नत शोध उपकरण के क्षेत्र में क्षमता एवं मानव संसाधन विकास है। इससे न केवल राज्य में अनुसंधान एवं विकास की स्थिति में सुधार होगा बल्कि राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्टता हासिल करने के लिए प्रशिक्षित जनशक्ति भी उपलब्ध होगी।

सीएलएफ पर उपलब्ध सुविधा

सीएलएफ के अंतर्गत वर्तमान में अनुसंधान एवं विकास तथा परीक्षण कार्य के लिए उपलब्ध प्रमुख उपकरण हैं:

  • स्पेक्ट्रोस्कोपी: यूवी.विजिबल यूवी.विजिबल.एनआईआर एफटीआईआर फ्लेम स्पेक्ट्रोस्कोपी मास स्पेक्ट्रोस्कोपी।
  • क्रोमैटोग्राफी: गैस क्रोमैटोग्राफी लिक्विड क्रोमैटोग्राफी लेयर क्रोमैटोग्राफी
  • माइक्रोवेव सैंपल प्रिपरेशन सिस्टम
  • पशु परीक्षण सुविधा
  • अन्य सहायक उपकरण

वर्तमान में सीएलएफ में उपलब्ध प्रमुख उपकरण यूवी-विज़, यूवी-विज़-एनआईआर, एफटीआईआर, एटॉमिक अब्सॅार्बशन स्पेक्ट्रोमीटर, इन्डक्टीवली कपल्ड प्लाज्मा मॉस स्पेक्ट्रोमीटर, गैस क्रोमैटोग्राफ, गैस क्रोमैटोग्राफ-मास स्पेक्ट्रोमीटर, हाई प्रेशर लिक्विड क्रोमैटोग्राफी, ओवर प्रेशर लेयर क्रोमैटोग्राफ, माइक्रोवेव सैंपल प्रिपरेशन सिस्टम और अन्य सहायक उपकरण आदि।


Inductively Coupled Plasma Mass Spectrophotometer

Gas Chromatograph Mass Spectrophotometer

High Pressure Liquid Chromatograph

Gas Chromatograph

Fourier Transform Infra Red Spectrophotometer

Over Pressure Liquid Chromatograph

UV-VIS-NIR Spectrophotometer

UV-VIS Spectrophotometer

केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा के डोमेन

अपने प्रथागत डोमेन के अनुसार सीएलएफ में विभिन्न क्षेत्रों में परीक्षण सुविधा उपलब्ध है जैसे कृषि पुरातत्व जैव, ऊर्जा जैव ,प्रौद्योगिकी रसायन विज्ञान, पृथ्वी विज्ञान और भूविज्ञान, पर्यावरण विज्ञान, जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, चिकित्सा विज्ञान, औषधीय और सुगंधित पौधों फार्मास्यूटिकल्स (फायटो केमिकल/हर्बल इंडस्ट्री) फिजिकल साइंसेज और अन्य राज्य के विकास से संबंधित क्षेत्र |

केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा के अंतर्गत गतिविधियां

"वर्तमान में यह दस्तावेज हिन्दी में उपलब्ध नहीं हैं , यह जानकारी अंग्रेजी में देखने अथवा प्राप्त करने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें।"

"वर्तमान में यह दस्तावेज हिन्दी में उपलब्ध नहीं हैं , यह जानकारी अंग्रेजी में देखने अथवा प्राप्त करने के लिए नीचे दिये गए लिंक पर क्लिक करें।"

  • छत्तीसगढ़ राज्य के वीभीन क्षेत्रों के 20000 से ज्यादा जल के नमूनों का फिसिको केमिकल विश्लेषण काम पूर्ण ।
  • जल के नमूनों का फिसिको केमिकल विश्लेषण का काम केंद्रीय प्रयोगशाला में कार्यरत पीएचडी के शोधार्थियों हेतु एवं निजी इंडेंटर्स तथा सरकारी विभागों जैसे वन विभाग के लिए किए गए हैं ।
  • केंद्रीय प्रयोगशाला के अंतर्गत 12 पीएचडी काम पूर्ण एवं 06 पीएचडी शोध कार्य प्रगति पर हैं । पीएचडी शोध कार्य हेतु एनआईटीआरआर रायपुर, मैट विश्वविद्यालय रायपुर, और रानी दुर्गावती
  • विश्वविद्यालयए जबलपुर के छात्र छात्राएं सीएलएफ के इंस्ट्रुमेंटेशन सुविधा का उपयोग करके अपने शोध कार्य कर रहे हैं ।
  • राज्य के विभिन्न कॉलेजों से 217 दीर्घ एवं लघु शोध प्रबंध पूरे किए गए हैं तथा वर्तमान मे 29 छात्र छात्राओ के दीर्घ एवं लघु शोध प्रबंध का कार्य प्रगति मे है ।
  • पशु परिक्षण सुविधा के अंतर्गत चूहे के मॉडल में एसटीजेड इन्ड्यूजड टाइप-ll मधुमेह पर इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालयए रायपुर द्वारा विकसित धान की वैरायटी का ग्लायिसमिक इंडेक्स (जीआई) अध्ययन एवं गुरु घासीदास राष्ट्रीय विश्वविद्यालयए बिलासपुर के लिए बोन फ्रैक्चर हीलिंग टेस्ट का कार्य पूर्ण ।
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मलेरिया रिसर्च से प्राप्त बस्तर क्षेत्र में क्रियान्वयित आईसीएमआर परियोजना के तहत रक्त के नमूनों में जी.6.पीडी आकलन का कार्य पूर्ण किया गया ।
  • एटिका क्लिनफार्मा प्राइवेट लिमिटेडए रायपुर के माध्यम से पंडित जवाहरलाल नेहरु मेडिकल कॉलेजए रायपुर हेतु बायोकॉम्पेटिबिलिटी टेस्ट का कार्य प्रगति पर है।
  • सीएलएफ में पीएचडी के काम की सूची....यहां क्लिक करे
  • सीएलएफ में पूर्ण निबंधों की सूची....यहां क्लिक करे

परियोजना पूर्ण:

  • केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा के तत्वावधान जल के नमूनों में आर्सेनिक का परीक्षण का कार्य पूर्ण किया गया । यह काम विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग से प्रदत्त छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में पीने के पानी से आर्सेनिक को हटाने के लिए ए.आर.आई. पुणे की प्रौद्योगिकी के फील्ड स्केल परीक्षणश् परियोजनान्तर्गत किया गया ।
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभागए भारत सरकार द्वारा प्रदत्त "ई.शासन के लिए ग्राम सूचना प्रणाली" परियोजना हेतु जल के 200 नमूनों का परिक्षण केंद्रीय प्रयोगशाला में और मिट्टी के नमूने का परीक्षण मृदा परीक्षण प्रयोगशाला, आईजीकेवीवी, रायपुर में पूरा किया गया।
  • मृदा परीक्षण एवं मृदा स्वास्थ्य कार्ड हेतु परियोजना प्रस्ताव तैयार कर डायरेक्टर, कृषि विभाग, छत्तीसगढ़ शासन, रायपुर को प्रेषित किया गया, उक्त प्रस्ताव अंतर्गत वर्ष में 3000 मृदा नमूनों का परीक्षण एवं मृदा हेल्थ कार्ड बनाने हेतु प्रस्तावित किया गया है। कृषि विभाग द्वारा परिषद की इस प्रयोगशाला को स्वीकृति प्रदान की गयी है।
  • Chhattisgarh Wetland Inventory: Ratanpur Wetland City Data Creation and Analysis परियोजना अंतर्गत रतनपुर क्षेत्र के तालाबों के जल का परीक्षण का कार्य प्रगति पर है

एम॰ ओ॰ यू॰

केंद्रीय प्रयोगशाला सुविधा को विस्तार देने हेतु एवं राज्य हित में विचारों के आदान.प्रदान को समग्र बनाने तथा इंस्ट्रुमेंटेशन सुविधा को वृहद स्तर पर उपलब्ध कराने के प्रयास में परिषद् द्वारा निम्न संस्थाओं से मेमोरेंडम ऑफ़ अंडरस्टैंडिंग पर हस्ताक्षर किए गए हैं:

  • पं रविशंकर शुक्ला विश्वविद्यालय रायपुर
  • इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर
  • गवर्नमेंट डी.बी. गर्ल्स कालेज रायपुर
  • डॉ राधा बाई गवर्नमेंट नवीन गर्ल्स कॉलेज रायपुर
  • श्री रावतपुरा सरकार इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी कुम्हारी जिला दुर्ग
  • एटिका क्लिनफार्मा प्राइवेट लिमिटेड रायपुर

उपलब्धियां

  • स्टेट मीट आॅन प्रोमोटिंग स्पेश टेक्नोलाॅजी बेस्ड टूल्स एण्ड एप्लीकेशन इन गवर्नेन्स एण्ड डेवल्पमेंट।
  • ईयर आॅफ सांईनटिफिक अवेयनेस-2004।
  • वीनस ट्रानसिट-2004।
  • रीजनल ओरीएनटेशन वर्कशाॅप आॅन माइक्रोआरगेनिजमसः लेट अस ओबसर्व एण्ड लर्न।